बेटी को स्कूल भेजने के बाद महिला फांसी लगाकर की खुदकुशी


अंबिकापुर। सोमवार की सुबह 13 वर्षीय बेटी को स्कूल भेजने के बाद शहर की एक महिला कमरे में पंखे के सहारे फांसी पर झूल गई। आनन-फानन में उसे फांसी के फंदे से उतारकर इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल लेकर स्वजन पहुंचे, यहां जांच के बाद चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतका के पिता ने पति पर प्रताडऩा का आरोप लगाया है।
जानकारी के अनुसार मृतिका सीमा गुप्ता पति बृजेश गुप्ता 35 वर्ष शहर के महामाया चौक स्कूल रोड की रहने वाली थी, उसका विवाह 15 वर्ष पूर्व हुआ था। सोमवार की सुबह सीमा अपनी 13 वर्षीय बेटी को स्कूल भेजी और कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पति ने जब अपनी पत्नी को फांसी पर लटके देखा तो उसे उतारकर मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले गया, यहां जांच के बाद चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतका के पिता सूरजपुर जेलपारा निवासी अनिल गुप्ता का कहना है कि 15 वर्ष पूर्व उन्होंने अपनी बेटी का विवाह बृजेश गुप्ता से किया था। इनका आरोप है कि दामाद अक्सर उनकी बेटी को प्रताडि़त करता था, कई बार मारपीट भी किया। पति के प्रताडऩा से परेशान होकर उनकी बेटी ने खुदकुशी कर ली। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।
पति भी किया खुदकुशी की कोशिश
मेडिकल कॉलेज अस्पताल में चिकित्सक के द्वारा सीमा गुप्ता को मृत घोषित करने के बाद उसका पति बृजेश अपने घर पहुंचा और पर्दे के सहारे फांसी लगाकर खुदकुशी करने की कोशिश किया। उसकी हरकत को देखकर आस-पास के लोगों ने इसकी जानकारी कोतवाली पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और बृजेश को हिरासत में ले लिया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *